उत्तर प्रदेशभारत

सिलईबड़ा बवाल: इंस्पेक्टर-चौकी प्रभारी लाइन हाजिर, छात्र के सिर के पार निकल गई थी गोली, एसडीएम और सीओ को हटाया

75views

मिलक कोतवाली क्षेत्र के सिलईबड़ा गांव में सरकारी जमीन पर डा.भीमराव अंबेडकर पार्क का बोर्ड लगाए जाने को लेकर हुए बवाल में छात्र सुमेश (17) की गोली लगने से मौत के मामले में मिलक के एसडीएम और सीओ को हटा दिया गया है। एसपी ने मिलक कोतवाली के इंस्पेक्टर, चौकी प्रभारी और तीन सिपाहियों को लाइन हाजिर कर दिया है। पुलिस ने इस मामले में चौकी प्रभारी सहित 25 पुलिस कर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है।

तनावपूर्ण माहौल और भारी पुलिस बल की मौजूदगी में बुधवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। सिलईबड़ा गांव में मंगलवार को हुए बवाल में गोली लगने से छात्र सुमेश की मौत के मामले में उसके पिता गेंदनलाल ने देर रात को तहरीर देकर एसडीएम अमन देओल व तहसीलदार राकेश चंद्रा के निर्देश पर गोली चलाने का आरोप लगाया था। बुधवार की सुबह आठ बजे पोस्टमार्टम के बाद छात्र सुमेश का शव एंबुलेंस से गांव पहुंचा तो परिजनों ने शव लेने से इनकार कर दिया।

Police Action

उनकी मांग थी कि एसडीएम और तहसीलदार पर भी रिपोर्ट दर्ज हो। करीब दो घंटे बाद हंगामे के बाद प्रशासनिक अधिकारियों के आश्वासन पर परिजनों ने शव को उठाकर घर में रखा। शव के घर में रखने के बाद ग्रामीणों और भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं जमकर हंगामा किया। दोपहर 12 बजे जब शव को अंत्योष्टि के लिए ले जाया जा रहा था तो भीम आर्मी व ग्रामीणों का गुस्सा भड़क गया।

घर की कुछ ही दूरी पर छात्र का शव सड़क पर रखकर लोग विरोध प्रदर्शन करने लगे। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद के आने तक अंतिम संस्कार न करने की बात कार्यकर्ता कहते रहे। भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस ने श्मशानघाट में लोगों पर लाठियां फटकारीं। करीब ड़ेढ घंटे बाद संभल में पुलिस द्वारा नजरबंद किए गए चंद्रशेखर आजाद ने वीडियो कॉलिंग पर छात्र के परिजनों, डीएम व एसएसपी से मामले की जानकारी ली। जिसके बाद शव का अंतिम संस्कार किया।

Police Action

इन पर दर्ज हुआ मुकदमा

एसडीएम मिलक के हमराह होमगार्ड, तहसलीदार के हमराह होमगार्ड, सिलईबड़ा चौकी के प्रभारी सुरेंद्र सिंह, सिपाही आदेश चौहान, वीरेंद्र, मुमतीरीन के अलावा गांव के नत्थुलाल, हेमराज, निर्वेश कुमार, झांजनलाल, तीरथ सिंह, जहोरीलाल, दिनेश कुमार, नौबत राम, हरनंदन, रामप्रकाश, ऊदल, लाल सिंह, बद्री प्रसाद, चरन सिंह, रविंद्र कुमार, राजेंद्र, भूपराम, नरेंद्र, कपिल पर एससी-एसटी एक्ट सहित 147,148, 149, 323, 302 की धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है।

Police Action

आखिरकार किसकी गोली लगी

रामपुर जिले के सिलईबड़ा गांव निवासी 10वीं के छात्र सुमेश की मौत किसकी गोली से हुई इससे अभी पर्दा नहीं उठ सका। इसका कारण सुमेश के शरीर से गोली का नहीं मिलना है। गोली सुमेश के सिर को छेदकर पार निकल गई। उसकी बायीं आंख के ऊपर गहरी चोट का निशान मिला। अब जांच में ही पता चल सकेगा कि मौत किसकी गोली से हुई।

मिलक के सिलईबड़ा गांव में मंगलवार शाम को हुए बवाल के दौरान हुई फायरिंग में सुमेश की मौत हो गई थी। परिजनों का आरोप है कि सुमेश की मौत पुलिस की गोली से हुई थी। इसको लेकर जमकर बवाल हुआ था।

Police Action

पुलिस ने देर रात शव को कब्जे में लेकर शव का पोस्टमार्टम कराया। पुलिस को बुधवार की देर शाम पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिल गई है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक गोली सुमेश के सिर के पार निकल गई। सिर के पिछले हिस्से में बड़ा घाव था और गोली बायीं आंख के ऊपर लगी थी।

 

 

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response