भारत

चरोट कैंची में बोलेरो दुर्घटनाग्रस्त, दादा-पोते की मौत

Accident
31views

हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले के रोहड़ू उपमंडल के अंतर्गत गुजांदली-देवरीघाट संपर्क मार्ग पर चरोट कैंची में बोलेरो दुर्घटनाग्रस्त होने से दादा-पोते की मौत हो गई है। हादसे में छह लोग गंभीर रूप से घायल हैं। हादसा उस समय हुआ जब सभी लोग नरैण मंदिर में दर्शन के लिए जा रहे थे। सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करके परिजनों को सौंप दिया है। घायलों का रोहड़ू अस्पताल में उपचार चल रहा है। पुलिस ने इस संबंध में केस दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस थाना रोहड़ू से मिली जानकारी के अनुसार सभी लोग बोलेरो में सवार होकर गुजादंली-देवरीघाट संपर्क मार्ग से नरैण मंदिर में दर्शन के लिए जा रहे थे। इसी बीच चरोट कैंची के समीप चालक वाहन से नियंत्रण खो बैठा। इससे गाड़ी सड़क से करीब 50 मीटर नीचे नीचे जा गिरी।

इस हादसे में बहादुर सिंह पुत्र बोखला निवासी गांव गुजादंली तहसील टिक्कर जिला शिमला और उनके पोते अक्षत (10) पुत्र कांशी राम निवासी गांव गुजांदली की मौके पर ही मौत हो गई। घायलों में पूनम पत्नी कांशी राम निवासी गांव गुजांदली तहसील टिक्कर, सत्या देवी पत्नी मंगत राम निवासी गांव बराल तहसील टिक्कर, सीमा निवासी गांव टिक्कर, सीमा पुत्री वीर नेपाली, मीना पत्नी रामू निवासी गांव टिक्कर और अमर पुत्र तुलाराम शामिल हैं। सूचना मिलने के बाद पुलिस और ग्रामीणों के सहयोग से शवों को खाई से बाहर निकाला गया। मामले की पुष्टि करते हुए डीएसपी रोहडू रविंद्र कुमार नेगी ने बताया कि रविवार को बोलेरो के दुर्घटनाग्रस्त होने से दो लोगों की मौत हो गई है। पुलिस हादसे के कारणों की छानबीन कर रही है।

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response