उत्तर प्रदेशभारत

किशोरी को बंधक बनाकर आठ साल तक व्यवसायी और रिश्तेदार ने किया शोषण

Symbolic pic
42views

 एक 15 वर्षीय किशोरी को अपने घर में बंधक बनाकर व्यवसायी सय्यद मोइनुद्दीन मुईन और उसके रिश्तेदार अमीनुद्दीन ने आठ साल तक शोषण किया। अधिवक्ता फैज मिर्जा की मदद से किशोरी ने दोनों की हरकतों का वीडियो बना लिया। अधिवक्ता ने वीडियो बाल संरक्षण आयोग की सदस्य डा. शुचिता चतुर्वेदी को दिया।

आयोग और चाइल्ड लाइन ने बच्ची को कब्जे में लिया। इसके बाद अमीनाबाद कोतवाली में दोनों आरोपितों के खिलाफ बुधवार देर रात मुकदमा दर्ज किया गया। आयोग की सदस्य सुचिता चतुर्वेदी ने बताया कि किशोरी और उसका भाई यतीमखाने में 11 साल पहले आया था। मोइनुद्दीन परवरिश के लिए दोनों को आठ साल पहले अपने घर ले आया था।

किशोरी के भाई को उसने दुबई भेज दिया था। इसके बाद वह किशोरी का शोषण करने लगा। मोइनुद्दीन के रिश्तेदार अमीनुद्दीन के पत्नी से संबंध ठीक नहीं थे। वह मोइनुद्दीन के घर आया करता था। उसे जब इसकी जानकारी हुई तो वह भी किशोरी का शारीरिक शोषण करने लगा। किशोरी त्रस्त हो चुकी थी। इस बीच कुछ दिनों से अधिवक्ता फैज मिर्जा, मोइनुद्दीन के घर आ रहे थे।

उन्होंने एक दिन किशोरी को परेशान देखकर पूछा तो वह रोने लगी। उसने सारी जानकारी दी। इसके बाद अधिवक्ता ने किशोरी से कहा कि वह चुपके से मोबाइल में मोइनुद्दीन और उसके रिश्तेदार की हरकतों का वीडियो बना ले। एक दिन मोइनुद्दीन की पत्नी अपना मोबाइल घर में छोड़कर कहीं चली गईं।

मोइनुद्दीन के कहने पर उसका रिश्तेदार भी पहुंच गया। दोनों मिलकर किशोरी का शोषण कर रहे थे। किशोरी ने बड़ी चालाकी से वीडियो बना लिया। इसके बाद अधिवक्ता को भेजकर डिलीट कर दिया। फिर अधिवक्ता ने कुछ लोगों के साथ जाकर किशोरी मोइनुद्दीन के घर पर विरोध जताया और किशोरी को लेकर अपने साथ चला गया।

अधिवक्ता ने एक सुरक्षित घर में शरण दी और फिर मामले की जानकारी आयोग को दी। इसके बाद चाइल्ड लाइन की टीम की मदद से बुधवार को बच्ची को कब्जे में लेकर चाइल्ड लाइन भेज दिया गया। थाने में मोइनुद्दीन और अमीनुद्दीन, आमिर, सुमैया, रोजी समेत छह के खिलाफ तहरीर दी। इंस्पेक्टर ने बताया कि दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

 

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response