अपराधउत्तर प्रदेशभारत

UP: बुलंदशहर में सिपाही के खिलाफ मुकदमा दर्ज, थाना इंचार्ज और क्राइम इंस्पेक्टर पर भी गिरी गाज

constable rajkumar
428views

बरामद युवती की सुपुदर्गी के लिए सिपाही पर महिला के साथ आए पड़ोसी को हवालात में बंद कर 25 हजार रुपये छीनने का आरोप लगा था। एसएसपी ने शिकायत के आधार पर जांच की तो मामला सही पाया। एसएसपी ने तत्काल प्रभाव से आरोपी सिपाही को सस्पेंड करते हुए उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच के निर्देश दे दिए। साथ ही लापरवाही के आरोप खुर्जा थाना नगर एसएचओ और क्राइम इंस्पेक्टर को लाइन हाजिर कर दिया।

 

यूपी के बुलंदशहर के खुर्जा नगर थाने में अवैध उगाही करने पर सिपाही पर एसएसपी श्लोक कुमार ने सख्त कार्रवाई की है। एक पीड़ित महिला से 25 हज़ार रुपये की अवैध वसूली करने पर सिपाही राजकुमार को एसएसपी ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। साथ ही पीड़िता की शिकायत पर सिपाही राजकुमार के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा के तहत मुकदमा कराते हुए कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

एसएसपी श्लोक कुमार ने बताया कि “थाने में रिश्वतखोरी के मामले में लापरवाह खुर्जा कोतवाली नगर के एसएचओ रविरतन और निरीक्षक इमाम जैदी को भी लाईन हाजिर किया गया है। खुर्जा कोतवाली नगर में निरीक्षक अजय कुमार को प्रभारी निरीक्षक के पद पर तैनात किया गया है।”

 

रिश्वत नहीं देने पर खिलाई थी हवालात की हवा!
दरअसल, हरियाणा की एक युवती खुर्जा में संदिग्ध परिस्थिति में पुलिस को मिली थी। युवती की सापूर्दगी के लिए युवती के परिजनों को पुलिस कर्मी ने फोन कर हरियाणा से खुर्जा कोतवाली नगर बुलाया था। विधुर महिला ने पड़ोसी युवक से मिन्नतें की और कार लेकर हरियाणा से खुर्जा नगर कोतवाली पहुंची। आरोप है कि युवती को खोजने और सही सलामत उन्हें सौंपने की एवज में हेड कांस्टेबल राजकुमार ने विधुर महिला और उसके साथ आए युवक से मेहनताना मांगा।

khurja kotwali nagar

रुपये न देने पर पहले तो उसे हवालात में डालने की धमकी दी और जब थाने में शोर शराब हुआ तो मुख्य आरक्षी ने वर्दी की हनक दिखाते हुए पीड़िता के पड़ोसी युवक को हवालात में डाल दिया। हवालात में डालने से पहले जामा तलाशी ले जाती है, आरोप है कि मुख्य आरक्षी ने युवक की जेब से 25 हजार रुपये, मोबाइल, बेल्ट और पर्स छीन लिया। इसी बीच शोर शराबा सुनकर पहुंचे कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रवि रतन ने युवक को हवालात से बाहर कराया।

आरोप ये भी है कि हवालात से बाहर निकाले जाने पर मुख्य आरक्षी ने युवक को अन्य सामान वापस कर दिया, लेकिन 25 हजार रुपये नहीं लौटाए। विरोध करने पर मुकदमा दर्ज कर हेड कांस्टेबल ने जेल भेजने की धमकी दी। मजबूरन पीड़ित पड़ोसी युवक, विधवा और उसकी बेटी को लेकर हरियाणा लौट गया।

 

आरोपी हेड कांस्टेबल की हुई शिनाख्त
एसएसपी श्लोक कुमार ने बताया कि “मंगलवार को जन शिकायत सुनने के दौरान हरियाणा की महिला ने सिपाही पर 25 हजार रुपये छीनने का आरोप लगाते हुए प्रार्थना पत्र दिया था। थाने में भ्रष्टाचार की शिकायत पर उन्होंने अविलंब अपने पीआरओ धर्मेंद्र सिंह को गाड़ी से पीड़िता को साथ लेकर खुर्जा कोतवाली में जाकर सिपाही की पहचान कराने और मामले की जांच करने के निर्देश दिए।“
जैसे ही मामले की जांच को एसएसपी के पीआरओ खुर्जा नगर कोतवाली पहुंचे तो कोतवाली में हड़कंप मच गया।

shlok kumar ssp
श्लोक कुमार, बुलंदशहर एसएसपी

पीड़िता ने खुर्जा कोतवाली में रुपये छीनने वाले सिपाही की पहचान कर ली। पीआरओ ने शाम को एसएसपी श्लोक कुमार को मामले की जांच रिपोर्ट जैसे ही सौंपी, एसएसपी ने तुरंत हेड कॉन्स्टेबल राजकुमार को निलंबित कर दिया और राजकुमार के खिलाफ खुर्जा नगर कोतवाली में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत पीड़िता की तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कराई।

एसएसपी श्लोक कुमार ने बताया कि “प्रकरण में खुर्जा कोतवाली नगर प्रभारी निरीक्षक रवि रतन और इंस्पेक्टर क्राइम इमाम जैदी की लापरवाही सामने आई है। जिस पर दोनों को लाइन हाजिर कर दिया गया है। इंस्पेक्टर अजय कुमार को खुर्जा नगर कोतवाली का प्रभारी निरीक्षक बनाया गया है।”

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response