उत्तर प्रदेशभारत

किसान रामवीर सिंह की हत्या तांत्रिक क्रिया से की, तंत्र क्रिया के बाद खून से किया माथे पर तिलक

Accused Tantrik in police custody
45views

बिलारी क्षेत्र के रुस्तमपुर खास निवासी किसान रामवीर सिंह की हत्या तांत्रिक राजेश कश्यप ने की थी। उसने किसान के खून से अपने माथे पर तिलक करने के बाद तंत्र क्रिया भी की थी। पुलिस ने बृहस्पतिवार को आरोपी को गिरफ्तार कर हत्याकांड का खुलासा कर दिया। आरोपी ने किसान को परेशानियां दूर करने का झांसा देकर अपने पास बुलाया था।

एसपी देहात संदीप कुमार मीना ने बताया कि बिलारी के रुस्तमपुर खास गांव निवासी विपिन कुमार ने 13 फरवरी 2024 को थाने में तहरीर देकर बताया कि उसके पिता रामवीर 12 फरवरी की शाम साइकिल से खेत पर गए थे। इसके बाद वह वापस नहीं आए। पुलिस किसान की तलाश में जुटी थी।

इसी दौरान 26 फरवरी को करौबी गांव में गन्ने के खेत में एक शव मिला था। मृतक की शिनाख्त रामवीर के रूप में की गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला घोंटने के बाद चाकू से गर्दन काटकर हत्या किए जाने की पुष्टि हुई थी। पुलिस ने इस मामले की जांच पड़ताल शुरू की। संदिग्ध लोगों से पूछताछ की गई थी लेकिन पुलिस को सफलता नहीं मिल पा रही थी।

तब पुलिस ने घटनास्थल के आस पास दोबारा सर्च अभियान चलाया। तब घटना स्थल से पांच सौ मीटर की दूरी पर झोपड़ी दिखाई दी। इस झोपड़ी के बारे में जानकारी जुटाई गई तो पता चला कि सिहारी लद्दा गांव निवासी तांत्रिक राजेश कश्यप रहता है और तंत्र क्रिया करता रहा है, लेकिन कुछ दिन से गायब है।

मंगलवार को पुलिस को तांत्रिक राजेश कश्यप मिल गया। पूछताछ करने पर तांत्रिक ने हत्या करने की घटना कबूल ली। तब उसने बताया कि रामवीर उसके पास अपनी परेशानियों से मुक्ति पाने के लिए आता था। घटना वाली शाम उसे झोपड़ी में बुला लिया था। इसके बाद दोनों ने शराब पी थी।

इसके बाद उसे परेशानियों से मुक्ति दिलाने के नाम पर गन्ने के खेत में ले गया। वहां पर मफलर में तीन गांठ बांधकर गला घोंट दिया था। रामवीर के बेहोश होने के बाद पर चाकू से उसकी गर्दन काट दी थी। इसके बाद तांत्रिक ने खून अपने और रामवीर के माथे पर तिलक भी लगा दिया था। बृहस्पतिवार को पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया है।

किसान के वेश में एसओजी की टीम पहुंची तांत्रिक के पास

आरोपी को पकड़ने के लिए एसओजी की टीम ने वेश बदलकर तांत्रिक से मदद मांगी थी। एसओजी प्रभारी अमित कुमार किसान बने थे। कांस्टेबल और महिला कांस्टेबल भाई बहन बनकर टीम में शामिल हो गए थे। इसी दौरान बातचीत में तांत्रिक ने बताया था कि रामवीर सिंह को उसने ही मुक्ति दिलाई थी। आरोपी को पुलिस पकड़कर थाने ले गई तो यहां भी वह देवी और बाबा आने का ड्रामा करने लगा था।

लाश मिली तो भाग गया था तांत्रिक

राजेश को जब यह पता चला कि पुलिस ने घटना स्थल से रामवीर के शव को बरामद कर लिया है, तब वह अपना मोबाइल बंद करके जहां तहां छिपता रहा।

 

 

 

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response