उत्तर प्रदेशभारत

फर्रुखाबाद अग्निकांड: 50 से अधिक झोपड़ियां जलीं, सात झुलसे…किशोर की मौत, रामनगरिया मेले में लगी भीषण आग

Farrukhabad Fire Incident
27views

फर्रुखाबाद जिले में पांचाल घाट पर लगे मेला रामनगरिया में गुरुवार को आधी रात में अचानक आग लग गईं। इसमें 50 से अधिक राऊटी और दुकानें जल गईं। दो-तीन रसोई गैस सिलिंडर फट गए। साथ ही, दो बाइकें भी जल गईं। घटना में झुलसे सात लोगों में तीन को रेफर कर दिया गया।

 

डीएम व एसपी के पहुंचने से पहले ही पुलिस ने एक किशोर को मृत अवस्था में मोर्चरी में रखवा दिया है। घटना से आक्रोशित लोगों ने शुक्रवार सुबह पुल पर जाम लगा दिया। घटनास्थल को सील कर दिया गया है। किशोर के परिजन बेहाल हैं। कादरीगेट थाने के पांचाल घाट स्थित रामनगरिया में गुरुवार रात अचानक आग लग गईं।

 

इसमें 50 से अधिक दुकाने व झोपड़ियां जलकर राख हो गईं। घटना के वक्त अधिकांश लोग अपनी राऊटी में गहरी नींद में सोए थे। कुछ लोगों ने शोरगुल करके मेलार्थियों को जगाया। आसपास के लोगों ने आग बुझाने का प्रयास किया। घटना होते ही मेले में चीख-पुकार के साथ भगदड़ मच गईं।

दो घंटे में दमकल ने आग पर पाया काबू

लोग जान बचाने के लिए राऊटी छोड़कर भागने लगे। कुछ लोगों ने खुद ही आग बुझाने का प्रयास किया।  फायर ब्रिगेड की गाड़िया भी पहूंच गईं। करीब दो घंटे के प्रयास से आग पर काबू पाया जा सका। डीएम, एसपी सहित प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी भी घटना स्थल पर पहुंचे।

हादसे में ये लोग झुलसे

आग में जयवीर (26) निवासी बिछवा जिला मैनपुरी, रामकिशन (52) निवासी अलापुर राजेपुर, मनीष (23) निवासी बछावा जिला हरदोई, कौशल किशोर (76) निवासी बेहटा गोकुल जिला हरदोई, शिवरतन (32) निवासी सरैया थाना मिर्जापुर जिला शाहजहाँपुर, लीलादेवी (60) निवासी शिवमोहन नगर जिला हरदोई झुलस गए।

गैस सिलेंडर फटने से हुई बड़ी घटना

सभी को लोहिया अस्पताल लाया गया, जहां से जयवीर, सत्यवती व रामकिशन की हालत गंभीर होने पर रेफर कर दिया गया। रसोई गैस सिलेंडर फटने से अधिक बड़ी घटना होना बताया जा रहा है। डीएम डॉ. वीके सिंह, एसपी विकास कुमार, एसडीएम गजराज सिंह, तहसीलदार श्रद्धा पांडे, सीएमओ अवनींद्र कुमार आदि अधिकारी लोहिया अस्पताल पहुंचे हैं।

इटावा-बरेली राष्ट्रीय राजमार्ग पर लंबा जाम

घायलों का हालचाल जाना। डीएम व एसपी के मेले में पहुंचने से पहले पुलिस ने एक झोपड़ी में झुलसकर मृत मिले पंचालघाट निवासी राजेश पंडा के पुत्र गोविंद (14) को उठाकर मोर्चरी में भिजवा दिया। परिजन सुबह तक अस्पताल और पुलिस के चककर लगाते रहे। गुस्साए लोगों ने पुल पर जाम लगा दिया। इससे इटावा-बरेली राष्ट्रीय राजमार्ग पर लंबा जाम लग गया। कुछ मेलार्थी अपने बच्चों के गायब होने की बात कह रहे हैं।

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response