उत्तर प्रदेशभारत

मेरठ में बड़ा हादसा: परिजनों में मचा कोहराम, फैक्टरी का बॉयलर फटने से दो कर्मचारियों की मौत, तीन घायल

42views

मेरठ के मवाना थानाक्षेत्र में फिटकरी गांव के नजदीक एक फैक्टरी में हुए हादसे ने दो मजदूरों की जान ले ली। बताया गया कि आज सुबह फैक्टरी का बॉयलर फटने से हादसा हो गया, जिसमें फैक्टरी में काम कर रहे दो कर्मचारी चपेट में आ गए।

दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची है। घटना की जांच पड़ताल के बाद शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवाने चाहे लेकिन मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने हंगामा कर दिया। वहीं कर्मचारियों की मौत की खबर सुनते ही परिजन मौके पर दौड़े। परिजनों को रो-रोकर बुरा हाल है।

 Meerut  Factory Accident

जानकारी के अनुसार मवाना में फिटकरी गांव के रास्ते पर स्थित टायर गलने वाली फैक्टरी में मंगलवार सुबह 5:30 बजे फैक्टरी का बॉयलर फट गया। इससे वहां काम कर रहे दो कर्मचारियों की मौत हो गई, जबकि तीन बुरी तरह झुलस गए। करीब एक घंटे तक झुलसे मजदूर और मृतकों के शव फैक्टरी में ही पड़े रहे। उसके बाद मौके पर उपलब्ध हुई एंबुलेंस ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया। इसके बाद घटनास्थल पर डीएम, एसएसपी, एसपी देहात आदि अधिकारी पहुंचे।

बताया गया कि गांव के रास्ते पर मेरठ निवासी अमित ठाकुर व दीपक जैन ने टायर गलने वाली फैक्टरी लगाई हुई है। यहां टायर को गलाकर तेल, राख, तार आदि अलग किए जाते हैं। फैक्टरी में इंचौली थाना क्षेत्र के किशोरीपुर गांव के करीब एक दर्जन लोग कार्य करते हैं।

 Meerut  Factory Accident

मंगलवार सुबह फैक्टरी में लोग काम पर लगे हुए थे। इसी दौरान हादसा हो गया। करीब 5:30 बजे  बॉयलर फट गया, जिसकी चपेट में आए शंकर(27) पुत्र विजयपाल जाटव, प्रवीण(32) पुत्र चतरू जाटव निवासी किशोरीपुर की मौत हो गई, जबकि दिनेश, शैंकी और उसके पिता सोहनपाल झुलस गए।

अन्य कर्मचारियों  के मुताबिक एक घंटे तक एंबुलेस, पुलिस को कॉल करते रहे लेकिन कोई मदद के लिए नहीं आया। करीब 6:30 बजे एंबुलेस आई। घायलों को गंगानगर स्थित एक अस्पताल में भर्ती कराया गया।

 Meerut  Factory Accident
घटना की जानकारी पर जिलाधिकारी दीपक मीणा, एसएसपी, एसपी देहात, एसडीएम, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। घटना से क्षेत्र में कोहराम मच गया। हजारों की संख्या में ग्रामीण फैक्टरी में पहुंच गए।

पुलिस बचाव कार्य में लगी है। ग्रामीणों ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए नहीं उठने दिया है। सभी फैक्टरी मालिक को बुलाने की मांग कर रहे हैं। वहीं फैक्टरी मालिकों ने मोबाइल स्विच ऑफ किए हुए हैं।

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response