उत्तर प्रदेशभारतमुजफ्फरनगर

Muzaffarnagar: नागरिकता संशोधन कानून को लेकर शहर में हुए बवाल के मामले में, एक आरोपी का अग्रिम जमानत अर्जी खारिज

breaking_The_X_India_eng_02
75views

मुजफ्फरनगर। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर शहर में हुए बवाल के मामले में एक आरोपी का अग्रिम जमानत प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया गया। हमले में प्रदेश के पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार भी घायल हुए थे। अपर जिला एवं सत्र न्यायालय संख्या-सात के पीठासीन अधिकारी शक्ति सिंह ने सुनवाई की।

सहायक शासकीय अधिवक्ता फौजदारी परविंद्र सिंह ने बताया कि 21 दिसंबर 2019 को नागरिकता संशोधन कानून को लेकर शहर के मीनाक्षी चौक पर करीब ढाई हजार लोगों ने एकत्र होकर जाम लगाने का प्रयास किया। पुलिस के वाहन फूंक दिए गए और पथराव किया गया था। वर्तमान में पुलिस महानिदेशक और तब एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार, एसपी प्रतापगढ़ सतपाल और तत्कालीन सिटी मजिस्ट्रेट अतुल कुमार भी घायल हुए थे।

वादी एसआई विनय शर्मा ने मुकदमा दर्ज कराया था। इस मामले में आरोपी तितावी के जसोई गांव निवासी वसीम अकरम उर्फ भूरा ने अपने अधिवक्ता के माध्यम से अपर जिला एवं सत्र न्यायालय संख्या-7 में अग्रिम जमानत प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया। अदालत ने सुनवाई के बाद प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया है।

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response