उत्तर प्रदेशभारत

प्रमोद यादव हत्याकांड के दो आरोपियों को पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान किया गिरफ्तार एक के पैर में लगी गोली

Murder case
35views

जौनपुर जिले के सिकरारा क्षेत्र के बोधापुर गांव निवासी प्रमोद यादव हत्याकांड में शामिल बदमाशों और पुलिस के बीच बीती रात मुठभेड़ हुई। जिसमें दो बदमाशों को पकड़ने में पुलिस को सफलता मिली। जबकि मुठभेड़ में एक बदमाश के पैर में गोली भी लगी। घायल बदमाश को जिला अस्पताल भेज दिया गया है। इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र सिंह ने बताया कि बीते सात मार्च को बोधापुर गांव निवासी प्रमोद यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद पुलिस सक्रियता से बदमाशों की तलाश कर रही थी।

यह है मामला

पुलिस के अनुसार, मुखबिर द्वारा सूचना दी गई कि वांछित अभियुक्त गुलजारगंज से कठार मलसिल तिराहा होते हुए मडियाहूं की तरफ जाने वाले हैं। उक्त सूचना पर थानाध्यक्ष सिकरारा द्वारा थानाध्यक्ष बक्शा एंव प्रभारी निरीक्षक मडियाहूं जनपद जौनपुर को सूचना से अवगत कराते हुए गुलजारगंज बाजार के बाहर कठार रोड पर वाहनों का सघन चेकिंग अभियान शुरू किया गया।

इसी बीच एक स्कॉर्पियों ब्लैक कलर वाहन संख्या UP62CS7474 आते हुए दिखाी। वाहन को रुकने का इशारा करने पर आरोपियों ने गाड़ी की रफ्तार तेज कर दी। पुलिस टीम पर जान से मारने की नीयत से फायर करते हुए भागने लगे। जिनका पीछा पुलिस टीम ने किया। उधर, आगे से थाना मडियाहूं एंव थाना बक्शा की पुलिस बल के आने से आरोपी घिर गए। आरोपी फायरिंग करते हुए भागने का प्रयास करते रहे।

आरोपियों की फायरिंग के दौरान एक गोली थानाध्यक्ष सिकरारा यजुवेंद्र सिंह के बुलेट प्रूफ जैकेट में आकर लगी। पुलिस द्वारा आत्मरक्षा करते हुए की गई फायरिंग में एक आरोपी सचिन यादव उर्फ देवा पुत्र महेंद्र यादव निवासी ग्राम देवापार थाना मडियाहूं जौनपुर के पैर में गोली लगी। जिससे वह घायल होकर गिर गया। वहीं दो अभियुक्त विजय यादव निवासी ग्राम बोधापुर थाना सिकरारा तथा इसी थाने के प्रेमराजपुर निवासी चंद्रशेखर यादव को गिरफ्तार किया गया। इसके बाद घायल अभियुक्त की तलाशी के दौरान उसके पास से एक देशी पिस्टल 32 बोर, चार जिंदा कारतूस 32 बोर, एक खोखा कारतूस 32 बोर व तीन मोबाइल और एक स्कार्पियो बरामद हुआ।

इस संबंध में पूछताछ के दौरान पता चला कि पकड़े गए एक बदमाश कई मामलों में आरोपी है। इसके ऊपर जिले के अलग- अलग थानों में आधा दर्जन से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं। थानाध्यक्ष ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर विधिक एंव विवेचनात्मक कार्रवाई की जा रही है।

 

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response