अपराधउत्तर प्रदेशभारतमुजफ्फरनगर

UP: कुख्यात माफिया सरगना सुशील मूंछ फिर से इनामी बदमाश घोषित, दर्ज हैं कुल 49 आपराधिक मुकदमे

sushil mooch
232views
  • साल 1983 में रखा था अपराध की दुनिया में पहला कदम
  • यूपी के आईएस-199 गैंग का सरगना है बदमाश सुशील मूंछ
  • पहली बार साल 2012 में 39 साल बाद गिरफ्तार हुआ था मूंछ

मुजफ्फरनगर। पूर्व में एक लाख का इनामी रह चुके प्रदेश स्तर से चिन्हित माफिया सरगना सुशील मूंछ पर एक बार फिर से मुजफ्फरनगर पुलिस ने नज़रे तरेरनी शुरू कर दी है। साल 1997 के गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे में अदालत से भगौड़ा घोषित किए जाने के बाद मुजफ्फरनगर पुलिस ने प्रदेश स्तर पर पंजीकृत गैंग आईएस-199 के सरगना हिस्ट्रीशीटर सुशील मूंछ पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुख्यात बदमाशों से एक सुशील मूंछ के खिलाफ कुल 49 मुकदमे दर्ज हैं। माफिया सरगना सुशील मूंछ मुजफ्फरनगर के थाना रतनपुरी के गांव मथेडी का रहने वाला है। सुशील उर्फ मूंछ ने अपराध की दुनिया में साल 1983 में कदम रखा था। उसके खिलाफ साल 1983 में मेरठ में एक हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ था। उसके बाद सिविल लाइन में 1986 और 1988 में देहरादून में हत्या के दो मुकदमे दर्ज हुए। मूंछ के खिलाफ हत्या, जानलेवा हमला, गैंगस्टर, गुंडा एक्ट आदि धाराओं के कुल 49 मुकदमे दर्ज हैं।

 

एक लाख का इनामी रह चुका है मूंछ

इससे पहले सुशील मूंछ एक लाख रुपये का इनामी बदमाश रह चुका है, जिसे पहली बार साल 2012 में यूपी एसटीएफ ने करीब 39 साल बाद गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। कुद वक्त जेल में बिताने के बाद सुशील मूंछ जमानत पर रिहा होकर बाहर आ गया। फिर मार्च 2019 में सुशील मूंछ एक अन्य मामले में कोर्ट में पेश होकर जेल चला गया। जिसके बाद फिर से जमानत पर बाहर आया और अंडरग्राउंड हो गया।

 

कोर्ट से भगौड़ा घोषित
आपको बता दें कि नई मंडी कोतवाली में साल 1997 में दर्ज गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे में सुशील मूंछ कोर्ट में हाजिर नहीं हो रहा था। कोर्ट ने 10 अक्तूबर 2023 को उसे भगौड़ा घोषित कर दिया। मूंछ पर गैंगस्टर के कुल 3 मुकदमे चल रहे हैं। 12 जनवरी को अदालत में सुनवाई होनी है।

“प्रदेश स्तर से चिन्हित माफिया सुशील मूंछ के विरूद्ध 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। उसे गैंगस्टर कोर्ट से भगोड़ा घोषित कर दिया गया है। इसके ऊपर कुल 49 मुकदमें दर्ज हैं। ये एक शातिर माफिया है। इसके विरूद्ध पुलिस ने पहले भी कार्रवाई करते हुए इसकी संपत्तियां जब्त की हैं और जल्द से जल्द इसे गिरफ्तार कर कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा, ताकि ट्रायल पूरा हो सके और उसको कड़ी से कड़ी सज़ा दिलाई जा सके।” अभिषेक सिंह, एसएसपी, मुजफ्फरनगर

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response