उत्तर प्रदेशभारतराजनीति

मुरादाबाद मंडल में हाथी की रफ्तार बढ़ी, प्रत्याशी घोषित करने में साइकिल की चाल धीमी

Mayawati and Akhilesh Yadav
64views

लोकसभा चुनाव को लेकर उम्मीदवारों के नामों की घोषणा होने लगी है। मंडल में सबसे पहले लोकसभा प्रत्याशी घोषित करने वाली सपा की साइकिल की चाल धीमी पड़ गई है। वहीं बसपा की हाथी की रफ्तार बढ़ गई है। मंडल की छह लोकसभा सीटों से चार परB J Pऔर दो पर बसपा ने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। गठबंधन में मंडल की एक मात्र सीट अमरोहा पाने वाली कांग्रेस अभी प्रत्याशी की घोषणा नहीं कर सकी है। 2019 के लोकसभा चुनाव में सपा और बसपा में गठबंधन था।

उत्तर प्रदेश में बसपा के प्रत्याशी दस सीटों पर विजयी हुए थे। जबकि सपा ने पांच सीटें जीतीं थी। मुरादाबाद मंडल में इस गठबंधन ने भाजपा का सूपड़ा साफ कर दिया था। मंडल की सभी छह सीटें पर गठबंधन के उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की थी। मंडल में बसपा को बिजनौर, नगीना और अमरोहा सीट पर जीत मिली थी। जबकि सपा ने संभल, मुरादाबाद और रामपुर लोकसभा सीट पर जीत हासिल की थी। इस बार समीकरण बदले हुए हैं। लोकसभा चुनाव को लेकर अभी तक जो स्थिति बनी है, उसमें बसपा यूपी में अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा की है।

वहीं सपा और कांग्रेस मिलकर चुनाव लड़ेंगी। यूपी की 19 लोकसभा सीटों कांग्रेस के उम्मीदवार होंगे। बाकी सीटों पर सपा चुनाव लड़ेगी। इसमें कांग्रेस के पास मंडल की सिर्फ अमरोहा सीट है। दूसरी ओर भाजपा का रालोद से गठबंधन है। रालोद को पश्चिमी यूपी की सिर्फ दो सीटें मिली हैं। प्रत्याशियों की घोषणा कर राजनीतिक दल अपने पत्ते खोलने भी शुरू कर दिए हैं। मंडल में प्रत्याशियों की घोषणा में सपा ने बाजी मारी थी। सपा ने संभल से डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क को उम्मीदवार बनाया था। हालांकि बीमारी के चलते उनका निधन हो गया।

इसके बाद न तो संभल सीट से नए प्रत्याशी की घोषणा हो सकी और न ही मंडल की अन्य सीटों के लिए उम्मीदवार का ऐलान हो सका है। दूसरी ओर तेजी दिखाते हुए भाजपा ने मंडल की चार सीटों पर प्रत्याशी घोषित कर दिए। इसमें रामपुर, संभल, अमरोहा और नगीना शामिल हैं। बिजनौर सीट से गठबंधन के साथी रालोद ने भी उम्मीदवार घोषित कर दिया है।

सिर्फ मुरादाबाद सीट से प्रत्याशी घोषित होना बाकी है। मंडल में प्रत्याशी घोषित करने में भाजपा पहले तो बसपा दूसरे स्थान है। अमरोहा के बाद बसपा ने मुरादाबाद सीट से भी प्रत्याशी घोषित कर दिया है। वहीं कांग्रेस मंडल की एक मात्र अमरोहा लोकसभा सीट पर भी अपने उम्मीदवार की घोषणा नहीं कर सकी है।

मुरादाबाद सीट से भी प्रत्याशी का खाता खुला

मंडल की छह लोकसभा सीट में से मुरादाबाद सीट ऐसी थी, जिस पर किसी दल ने अपने उम्मीदवार की घोषणा नहीं की थी। रविवार को मुरादाबाद सीट से भी प्रत्याशी का खाता खुल गया। बसपा ने इस सीट से इरफान सैफी को उम्मीदवार बनाया है। वहीं अभी तक अमरोहा ही एक मात्र लोकसभा सीट है, जहां से दो दलों (भाजपा और बसपा) के प्रत्याशी घोषित हो चुके हैं।

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response