उत्तर प्रदेशमुजफ्फरनगर

सौतेली बेटी के बलात्कारी बाप को 7 साल की सजा, अदालत ने 15 हजार का जुर्माना भी ठोका

judge-hammer-gavel-lf-1-1024x585-1-1
47views
  • रिपोर्टः एम.रहमान, वरिष्ठ पत्रकार

मुजफ्फरनगर। शामली जिले के थाना कांधलां इलाके के एक गांव की रहने वाली 19 साल की युवती के साथ हुए बलात्कार के मामले में अदालत ने सौतेले पिता को दोषी करार देते हुए 7 साल की सजा सुनाई है। साथ ही साथ अदालत ने दोषी पिता पर 15 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

पीड़िता की हो चुकी है मौत

मामले की सुनवाई विशेष पॉस्को अदालत-प्रथम के पीठासीन अधिकारी रितेश सचदेवा की कोर्ट में हुई। अभियोजन की और से एडीजीसी कुलदीप सिंह पुंडीर ने कुल 5 गवाह पेश करते हुए पैरवी की। आपको बता दें कि मामले की पीड़ित लड़की की अदालत का फैसला आने से पहले ही मौत हो चुकी है।

ये था पूरा मामला

अभियोजन की कहानी के अनुसार, 10 जून 2016 को आरोपित सौतेले पिता ने खुद ही मुकदमा दर्ज कराते हुए पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की थी और आरोप लगाया था कि उसकी बेटी को तीन लोग जबरन अपने साथ बाइक पर बैठाकर ले गए और उसके साथ बलात्कार किया। लेकिन पुलिस ने गहनता से जांच की तो पूरा मामला उसके उलट पाया।

पिता ने ही दर्ज कराया था मुकदमा

पुलिस के मुताबिक, पीड़िता ने 164 के तहत अदालत में दिए अपने बयानों में अपने ही सौतेले पिता पर मारपीट कर बलात्कार करने का आरोप लगाया और विरोध करने पर घर से निकाल दिया। पुलिस ने पीड़िता के बयानों के आधार पर तीनों नामजदों के नाम मुकदमें से निकालते हुए वादी पिता को आरोपित करते हुए कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की।

आज अदालत ने तमाम सबूतों और गवाहों की गवाही के बाद आरोपी सौतेले पिता को दोषी करार दिया और सजा सुनाई।

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response