उत्तर प्रदेशभारत

पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर वारदात को दिया अंजाम

abid ali
86views

रामपुर के ईंट भट्ठा मजदूर की मौत के मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। उसकी गला दबाकर हत्या की गई थी। पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया था। बाद में सड़क दुर्घटना दर्शाने के लिए उसके मुंह पर चोट मारी और बाइक को यूकेलिप्टस के पेड़ के नीचे डाल दिया था। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मृतक आबिद अली रामपुर जनपद के कैमरी थानाक्षेत्र के गांव पजावा के रहने वाले थे।

करीब चार महीने पहले आबिद अली अपनी पत्नी अफसाना व बेटा और बेटी के साथ सलेमपुर नवादा स्थित अजमत ईंट उद्योग पर मजदूरी करने आए थे। उनके अन्य साथी भी यही काम करते हैं। सोमवार की शाम आबिद बाइक लेकर घर से निकले थे। देर रात घर जाकर सो गए थे। रात में ही उनकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। पत्नी अफसाना ने दावा किया था कि आबिद अली घायल अवस्था में घर आया था। उसकी बाइक पेड़ से टकरा गई थी। पुलिस ने जांच पड़ताल के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था।

डॉक्टर के पैनल ने शव का पोस्टमार्टम किया था। जिसमें चौंकाने वाला खुलासा हुआ। आबिद अली की गला दबाकर हत्या करने की पुष्टि हुई। जिसके बाद पुलिस हरकत में आ गई। सीओ सिटी अरुण कुमार ने बताया कि मामले में मृतक के भाई शाहिद हुसैन की तहरीर पर अफसाना और उसके प्रेमी अनवार के खिलाफ हत्या की एफआईआर दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि अफसाना का प्रेम प्रसंग अनवार के साथ चल रहा था।

कुछ दिन पहले आबिद अली ने अपनी पत्नी को अनवार के साथ रंगे हाथ पकड़ लिया था। जिसे लेकर आबिद अली ने अफसाना को भी धमकाया था। इस बात का पता ईंट भट्ठे पर काम करने वाले लोगों को भी है। आबिद अली उसकी पत्नी अफसाना और प्रेमी अनवार के अवैध संबंधों में आड़े आ रहा था, इसलिए तो दोनों ने मिलकर हत्या कर दी।

दफीना होते ही पत्नी घर से चली गई

सीओ सिटी अरुण कुमार के मुताबिक पोस्टमार्टम करने के बाद परिजन मृतक आबिद अली के शव को अपने रामपुर स्थित घर ले गए थे। यहां दफीना होते ही उसकी पत्नी अफसाना घर से चली गई। काफी तलाश करने के बाद भी उसका कहीं पता नहीं चला। इसके बाद परिजनों को भी उसकी हरकतों पर शक हो गया था।

अनवार से चल रहा था प्रेम प्रसंग 

आबिद अली की पत्नी अफसाना का प्रेम प्रसंग गांव पजावा के ही रहने वाले अनवार के साथ चल रहा था। आबिद अली इसके खिलाफ था। इसके बाद भी दोनों चोरी छिपे मिलते थे। तभी दोनों ने अवैध संबंधों में आड़े आने वाले आबिद अली को अपने रास्ते से हटाने की योजना बनाई और पांच मार्च की रात गला दबाकर उसकी हत्या कर दी।

मृतक आबिद अली और अफसाना मूलरूप से धर्मपुर गांव के रहने वाले थे। दोनों ने प्रेम विवाह किया था। अफसाना के परिजन इसके खिलाफ थे। इसके चलते आबिद अली को अपना गांव छोड़ना पड़ा था। बाद में आबिद अली पत्नी अफसाना और अन्य परिजनों के साथ पजावा गांव में बस गया था।

पूछताछ के दौरान आरोपी अफसाना ने अफसोस जताया। कहा कि साहब गलती हो गई, अब बच्चों को कौन रखेगा। मृतक आबिद अली और अफसाना पर तीन बच्चे है। सीओ के मुताबिक फिलहाल तीनों बच्चे पजावा में अपने दादा-दादी के पास हैं।

 

 

 

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response