उत्तराखंड

चोरी की नीयत से घर में घुसा था युवक, लाठी-डंडों से पीटकर की गई थी हत्या

Uttrakhand Police
104views

सेलाकुई पुलिस ने हत्या का खुलासा करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। हत्या में शामिल दो अन्य लोगों की तलाश की जा रही है। बीते 20 जनवरी को इमरान चोरी के लिए एक घर में घुसा था। इस पर आरोपियों ने उसे पकड़कर लाठी-डंडों से पिटाई कर दी थी। जिसमें उसकी मौत हो गई थी।

थाना प्रभारी सेलाकुई शैंकी कुमार ने बताया कि बीते 21 जनवरी को सेलाकुई पुलिस को सूचना मिली थी कि आसन नदी स्थित शमशान घाट के पीछे एक युवक का शव पड़ा है। मृतक की पहचान हसनपुर सहसपुर निवासी इमरान के रूप में की गई थी। उसके सिर पर चोट के निशान थे। मामला संदिग्ध प्रतीत होने पर एसएसपी ने जांच के निर्देश दिए थे। एसआई रतन सिंह बिष्ट के नेतृत्व में खुलासे के लिए टीम गठित की गई।

जांच में मृतक इमरान का दो दिन पूर्व ही जेल से छूटने की बात प्रकाश में आई। पुलिस को यह भी जानकारी मिली कि घटना की रात्रि ईदगाह के पास वाली बस्ती में साजिद नाम के व्यक्ति के घर के पास कुछ लोगों ने किसी व्यक्ति के साथ मारपीट की है। पुलिस ने शक के आधार पर साजिद को हिरासत में लेकर सख्ती के साथ पूछताछ की उसने हत्या की बात कबूल कर ली। उसने बताया कि वह गाड़ी चलाने का कार्य करता है।

आरोपी गिरफ्तार

बताया कि बीते 20 जनवरी को इमरान रात करीब 1:30 बजे चोरी करने की नीयत से उसके घर में घुस गया था। उसके जागने पर इमरान नदी की तरफ भाग गया। उसने अपने पुत्र उमर के साथ इमरान को पकड़ लिया और बस्ती ले आए। शोर-शराबा सुनकर बस्ती में रहने वाले अन्य लोग आमिर, सहबान, रीना, जावेद, गोविंद, शमशाद वहां आ गए। पुलिस के मुताबिक, इस दौरान साजिद, उसके बेट उमर, जावेद, सहबान और आमिर ने इमरान को लाठी-डंडों से पीटा। मौके पर ही उसकी मौत हो गई थी।

मौके पर मौजूद अन्य लोगों को हत्या की बात किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी गई। पुलिस ने साजिद निवासी पीठ वाली गली सेलाकुई, मूल निवासी ग्राम चेहडी, थाना रामपुर मनिहारन, जनपद सहारनपुर यूपी, जावेद और सहबान दोनों निवासी पीठवाली गली को रविवार की दोपहर गिरफ्तार कर लिया। साजिद की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त डंडे भी बरामद किए गए हैं। हत्या में शामिल साजिद के पुत्र उमर और भांजे आमिर निवासी पीठ वाली गली सेलाकुई की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही है।

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response