मुजफ्फरनगर

तीन लुटेरों को लगी गोली…पांच गिरफ्तार

firing
57views

कानपुर में चकेरी पुलिस की बुधवार रात सनिगवां सजारी में लुटेरों के अंतरराज्यीय गैंग के चार शातिरों से मुड़भेड़ हो गई। जवाबी फायरिंग में 25-25 हजार रुपये दो इनामी बदमाशों को पैर में गोली लगी। इसके बाद पुलिस ने दोनों बदमाशों समेत चार को गिरफ्तार कर वारदात में प्रयुक्त कार व तमंचे और कारतूस बरामद किए हैं। पुलिस आरोपियों के फरार साथियों की तलाश में दबिश दे रही है।

सनिगवां के कांशीराम कॉलोनी स्थित जंगल में बुधवार रात वैगनआर कार सवार बदमाशों के वारदात करने की सूचना पुलिस को मिली तो पुलिस ने घेराबंदी की। इस दौरान कार सवार बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस की जवाबी फायरिंग में दो बदमाशों के पैर में गोली लगी और वे जमीन पर गिर गए। पुलिस ने इनके अलावा दो और बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। दोनों घायलों को इलाज के लिए कांशीराम अस्पताल में भर्ती कराया है।

वहां से इन्हें हैलट रेफर कर दिया गया। डीसीपी पूर्वी एसके सिंह ने बताया कि मुड़भेड़ में गाजियाबाद के मूल निवासी चंदन सिंह और गुड़गांव हरियाणा निवासी तेग सिंह नेगी उर्फ प्रकाश पैर में गोली लगी है। दो और साथियों मुकेश और दयाल को गिरफ्तार किया गया है। इसी साल मार्च माह में चकेरी के हरजिंदरनगर के रामगली निवासी एक निजी स्कूल की प्रबंधक हेमलता जोशी (70) के स्कूल में घुसकर तीन बदमाशों डकैती डाली थी।

सर्विलांस की मदद से बदमाशों की तलाश में जुटी थी पुलिस

बदमाशों को पता चला था कि स्कूल परिसर स्थित इनके आवास में पांच से सात करोड़ रुपये रखे हैं। बदमाश फीस जमा करने का बहाना बनाकर घुसे और फिर ऑफिस खुलवाया था। विरोध पर उन्होंने मारपीट कर चाकू से हमला कर डकैती डाली थी। मामले में हेमलता जोशी के दामाद ने मामला दर्ज कराया था। इसके बाद से पुलिस सर्विलांस की मदद से बदमाशों की तलाश में जुटी थी।

आरोपियों पर दिल्ली और देहरादून में भी मामले दर्ज

डीसीपी के मुताबिक पुलिस की जांच में पकड़े गए बदमाशों और इनके साथियों का नाम सामने आया था। हेमलता के घर में वारदात को अंजाम देने के बाद यह बदमाश दिल्ली भाग गए थे। इन आरोपियों ओर दिल्ली, देहरादून में कई मामले दर्ज है। पुलिस को हेमलता के घर में हुई वारदात में किसी करीबी का हाथ होने का भी पता चला है। इसके अलावा और भी जानकारी जुटाई जा रही है। उन्होंने बताया कि आरोपियों पर 25-25 हजार का इनाम भी घोषित है। इसी गैंग ने वर्ष 2022 में कल्याणपुर में एक डॉक्टर के घर डकैती की वारदात को अंजाम दिया था।

अंतरराज्यीय गैंग के अपराधी हैं आरोपी

डीसीपी पूर्वी ने बताया कि आरोपी दिल्ली और यूपी में ज्यादा सक्रिय हैं। वे इन्हीं दो राज्यों में लूट और डकैती जैसी वारदातों को अंजाम देते थे। आरोपियों का आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है। साथ ही इनके पास से एक देसी पिस्टल व कार बरामद हुई है।

गुजैनी में महिला अफसर से लूट का आरोपी गिरफ्तार

वहीं, गुजैनी के पिपौरी गांव में रात एक बजे फजलगंज इंस्पेक्टर सुनील सिंह की टीम ने महिला अफसर से लूट में फरार चल रहे सत्यम तिवारी को पकड़ने की कोशिश की। इस पर आरोपी ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में उसके पैर में गोली लगी। सत्यम पर एक दर्जन मुकदमे दर्ज हैं।

 

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response