उत्तर प्रदेशभारत

अयोध्या में दर्दनाक हादसा, तीन नाबालिग दोस्तों की सरयू नदी में डूबकर मौत

Kanpur Three students died
62views

कानपुर से अयोध्या में रामलला के दर्शन-पूजन के लिए आए छह दोस्तों में से तीन की सरयू में नहाते समय डूबकर मौत हो गई। घटना सरयू के श्मशान घाट पर सुबह 9:30 बजे हुई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख जाहिर किया है।

कानपुर नगर के विश्व बैंक कॉलोनी, बर्रा प्रथम के रहने वाले रवि मिश्र, प्रियांशु सिंह, हर्षित अवस्थी, अमन शर्मा, कृष्णा सहगल और तनिष्क पाल शनिवार की शाम अयोध्या आए थे। ये सभी अलग-अलग स्कूलों के छात्र और आपस में दोस्त हैं।

सभी दोस्त नाका स्थित एक धर्मशाला में ठहरे थे। रविवार की सुबह 8:30 बजे सभी सरयू के श्मशान घाट पर स्नान करने के लिए गए थे। नहाने के बाद रामलला और हनुमानगढ़ी के दर्शन की योजना थी। सुबह 9:30 बजे नहाते समय रवि मिश्र (20) डूबने लगे तो उन्हें बचाने के लिए हर्षित (18) व प्रियांशु (16) भी गहरे पानी में चले गए।

एक-एक कर तीनों डूब गए। बाकी तीन दोस्त भी उन्हें बचाने के लिए पानी में उतर रहे थे लेकिन वहां मौजूद लोगों ने रोक दिया। सूचना पर एसडीआरएफ व जल पुलिस सहित पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंचे। जल पुलिस के जवानों ने तत्काल गहरे पानी में उतरकर डूबे छात्रों की तलाश शुरू की। करीब 30 मिनट तक चले रेस्क्यू अभियान के बाद तीनों को गहरे पानी से निकाल लिया गया। सभी को श्रीराम अस्पताल ले जाया गया। वहां डॉक्टरों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया।

जन्मदिन के दिन हुई रवि की मौत

अयोध्या में रामलला के दर्शन करने गए जिस रवि मिश्रा (18) की सरयू नदी में डूबने से मौत हुई है, उसका रविवार को जन्मदिन था। परिवार के लोगों ने उसके जन्मदिन की तैयारी की थी, बस इंतजार रवि के घर लौटने का था। परिवार के लोग उसकी राह देख रहे थे, लेकिन उसकी मौत की खबर जरूर घर पहुंच गई।

रवि की मौत से जानकारी मिलते ही परिजन दहाड़े मार कर बिलख पड़े, बोले हे भगवान रवि को क्या क्या किया…हमने तो कभी किसी का बुरा नहीं किया। रिश्तेदारों ने दुखी परिजनों को सांत्वना देकर शांत कराया।

रवि का पैर फिसल गया, हर्षित व प्रांशु भी लापता

हैलो पापा…हर्षित, रवि और प्रांशु नहीं मिल रहे। वो फिसल गए और नदी में लापता हो गए हैं। रविवार सुबह करीब नौ बजे कृष्णा सहगल ने कॉल कर अपने पिता अतुल सहगल को रोते हुए यह जानकारी दी तो वह कांप गए। उसने आगे बताया कि सब ढूंढ रहे हैं पर वो मिल नहीं रहे हैं। घटना में सकुशल बचे कृष्णा, तनिष्क और अमन शर्मा के परिजन लगातार उनके संपर्क में रहे।

वीडियो बनाता था शुभम

रवि उर्फ शुभम समसामयिक विषयों में गहरी रुचि रखता था। वह आए दिन ऐसे ही विषयों पर वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में पोस्ट करता था, जिस पर हजारों में व्यूज भी आते थे।

पहले होगा जनेऊ, फिर अंतिम संस्कारडूबकर मरने वाले बच्चों में शामिल शुभम उर्फ रवि हर्षित और प्रांशु का पहले जनेऊ संस्कार होगा और उसके बाद भैरव घाट में ही उनका अंतिम संस्कार भी होगा। इससे पहले रविवार रात तीनों की अर्थी को घर की गली के बाहर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। परिजनों के अनुसार तीनों की एक साथ अर्थी घर से उठेगी और एक साथ ही तीनों का अंतिम संस्कार होगा।

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response