उत्तर प्रदेशभारत

UP: उलझ गई गुत्थी, बुरी तरह क्षतिग्रस्त था युवती का चेहरा… हत्या के बाद आत्महत्या या दोनों को मारा गया

Murder And Suicide
83views

लखीमपुर खीरी के मितौली कस्बे के पास राजा लोने सिंह की गढ़ी पर स्थित खंडहर नुमा शिव मंदिर के पास युवक व युवती के खून से लथपथ शव मिलने के मामले में पुलिस आत्महत्या की कहानी पर जांच कर रही है। वहीं, युवक व युवती के परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया है। दोनों सरकारी नौकरी के लिए परीक्षाओं की तैयारी कर रहे थे।

सोमवार सुबह एक युवक व युवती के खून से लथपथ शव मिले। आसपास मांस के छोटे-छोटे लोथड़े भी बिखरे थे। एक तमंचा व खोखा भी मिला। युवक की शिनाख्त रावेंद्र (23) पुत्र कल्लूराम निवासी कल्लुआमोती के रूप में हुई। वह लखनऊ में बड़े भाई के साथ रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था। युवती की शिनाख्त उमा भारती (23) के तौर पर हुई।

मृतक की मां रामदेवी ने बताया कि सुबह नौ बजे के करीब रावेंद्र घर से चाय पीकर निकला था। वह किसी काम से मितौली आया था, जहां बुलाकर उसकी हत्या कर दी गई। घटनास्थल पर पहुंचे मृतक के भाई मोनू ने बताया कि सुबह बाइक लेकर वह किसी काम से गया था। थोड़ी देर पर बाद घऱ लौटा तो रावेंद्र बाइक लेकर गया था।

यह बाइक घटनास्थल के पास कुछ दूर पर ही खड़ी मिली। उधर, मृतका उमा भारती के पिता सत्यपाल व नाना प्रेमचंद भी उसकी हत्या किए जाने का आरोप लगा रहे हैं। घटनास्थल पर पहुंचे सत्यपाल ने बताया कि उमा अपने ननिहाल में कई सालों से रह रही थी। वह मितौली के निजी अस्पताल में नर्स थी।

रोज की तरह सोमवार को भी सुबह नौ बजे वह अपनी साइकिल से अस्पताल के लिए निकली थी। पुलिस को उमा की साइकिल व बैग घटनास्थल से कुछ दूर पर ही मिले हैं। घटनास्थल पर पहुंचे रावेंद्र व उमा के परिजनों का कहना है वे सरकारी नौकरी की तलाश में थे। सत्यपाल ने बताया कि उनकी बेटी ने नर्सिंग का कोर्स कर रखा था।

वह सरकारी नौकरी की तलाश में लगातार पढ़ाई कर रही थी। वहीं रावेंद्र की मां राम देवी का कहना है उसका बेटा बहुत ही होनहार था। वह बीएससी करने के बाद लखनऊ में अपने बड़े भाई के साथ रहता था। वहीं पर सरकारी नौकरी के लिए तैयारी कर रहा था। दो दिन पहले ही वह अपने गांव आया था। हालांकि, युवक-युवती एक दूसरे को कैसे जानते थे, दोनों के ही परिजन नहीं बता सके।

युवती का चेहरा बुरी तरह क्षतिग्रस्त था

सूचना पर थाना प्रभारी राजू राव व सीओ शमशेर बहादुर सिंह मौके पर पहुंचे। पुलिस ने युवक की जेब से मोबाइल, बाइक की चाबी व दो कारतूस बरामद किए। युवती का चेहरा बुरी तरह क्षतिग्रस्त होने से पहचान में दिक्कत आई। उसके पास मोबाइल फोन बरामद हुआ।

इसी दौरान किसी महिला का फोन आने पर सीओ शमशेर बहादुर सिंह ने बात की। कुछ दूरी पर उमा की साइकिल मिली है जिस पर टंगे एक बैग में सफेद रंग का कोट मिला। फॉरेसिंक टीम ने भी सैंपल जुटाए। फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है। थाना प्रभारीने बताया कि किसी ने तहरीर नही दी है।

सटी हुई है कॉलोनी, क्या किसी ने भी नहीं सुनी गोलियां चलने की आवाज

युवक व युवती की मौत के मामले में पुलिस गोली चलने की बात कह रही है। हैरत की बात है कि दिनदहाड़े दो फायर होने के बावजूद क्या किसी ने भी गोली की आवाज नहीं सुनी जबकि तहसील की कालोनी के कई आवासों की खिड़कियां और दरवाजे घटनास्थल की ओर ही खुलते हैं। घटनास्थल से आवासीय कालोनी सटी हुई है।

वहीं घटनास्थल के पास ही टीले पर सिंघाड़े की गूदी सुखाने वालों की झोपड़ी है जिसमें कोई न कोई हर समय रहता है। ऐसे में हत्या की गुत्थी और भी उलझ गई। फॉरेंसिक टीम को शवों के पास से तमंचा और एक खोखा मिला है। तमंचे के अंदर एक और खोखा मिला है। वहीं रावेंद्र की जेब से दो कारतूस बरामद हुए हैं।

प्रथमदृष्टया युवती की हत्या करना और बाद में युवक के खुद को गोली मारकर खुदकुशी करने का मामला लग रहा है। पुलिस अन्य पहलुओं पर भी गंभीरता से जांच कर रही है।

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response