उत्तर प्रदेशभारत

छोटे भाई ने बड़े भाई की गला रेतकर हत्या

Murder Case
33views

फर्रुखाबाद जिले के कायमगंज कोतवाली क्षेत्र में नशेड़ी छोटे भाई ने बड़े भाई की घर के कमरे में धारदार हथियार से गर्दन रेतकर हत्या कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस व फोरेंसिंक टीम जांच पड़ताल कर रही है। कोतवाली क्षेत्र के गांव रजपालपुर निवासी महाराज सिंह के बड़े पुत्र रंजीत (25) व छोटे पुत्र गोलू में किसी बात को लेकर घर में ही विवाद हो गया।

गोलू ने गुस्से में आकर रंजीत की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी। गर्दन के ऊपर व नीचे की साइड कटने से खून का ज्यादा बहाव हो गया। कमरे में खून से लथपथ शव पड़ा था। हत्या के बाद पानी से धोने पर नाली में खून दिखाई देने लगा। कुछ पड़ोसियों ने नाली में खून बहता देखा, तो कुछ शंका हुई। इस पर ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी।

कमरे में पड़ा था लहूलुहान शव

सूचना पर इंस्पेक्टर रामअवतार, एसआई नितिन कुमार फोर्स के साथ पहुंचे। कमरे में लहूलुहान शव पड़ा देखा। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया। कमरे को बंद कर फोरेंसिक टीम को सूचना दी। फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल पर फोटोग्राफी कर कुछ नमूने लिए। पिता महाराज सिंह का कहना था कि घटना का कारण उन्हें नहीं पता है।

दोनों भाई मजदूरी कर गुजारा करते थे

वे अलीगंज रोड के पास रेलवे क्रासिंग के पास साइकिल पंचर की दुकान चलाते हैं। रास्ते में आते समय उन्हें किसी ने बताया है। ग्रामीणों का कहना है कि दोनों भाई शराब पीने के आदी थे। अक्सर नशे की हालत में मारपीट करते रहते थे। दोनों भाई मजदूरी कर गुजारा करते थे। रंजीत की दो बहनें बविता व मोनी हैं।

शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा

एक बहन विमला की 10 वर्ष पहले मौत हो चुकी है। रंजीत की मां की काफी पहले मौत हो चुकी है। दोनों भाई व पिता एक ही घर में रहकर खुद ही खाना बनाते थे। बड़ा भाई अजीत दिल्ली में प्राइवेट नौकरी करता है।इंस्पेक्टर रामअवतार ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

हत्या के बाद कमरे में खून धो रहा था भाई

बड़े भाई रंजीत की धारदार हथियार से हत्या करने के बाद आरोपी भाई को खुद के फसने का भी डर सताने लगा। कमरे में फैले खून को देखकर वह पानी से धोने लगा। पानी के साथ जब खून बहकर नाली में पहुंचा, तो पड़ोसियों ने बहता खून देख लिया और चौंक गए। ताका झांकी करने पर ग्रामीणों को रंजीत की हत्या करने का शक हो गया। इस पर पुलिस को सूचना दी।

एक बेटे की हत्या दूसरे के जेल जाने का पिता को गम

गांव रजपालपुर निवासी महाराज सिंह को बड़े बेटे रंजीत की हत्या के बाद अब दूसरे बेटे के जेल जाने का भी गम है। कहते हैं पिता के लिए औलाद सभी बराबर होती है। पिता महाराज सिंह ने कहा कि रंजीत शराब पी लेता था। छोटा बेटा शराब नहीं पीता था, जबकि ग्रामीणों का कहना है कि दोनों ही शराब पीने के आदी थे। पत्नी की मौत के बाद पिता अपने बेटे रंजीत के साथ मिलकर खुद ही खाना बनाकर खाते थे। यह सब बताते हुए वे फूट-फूटकर रो पड़े।

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response