भारत

लाठी-डंडा और पथराव से घायल युवक की अस्पताल में मौत

Dead Body
38views

साहिबाबाद। शहीद नगर की वाल्मीकि कालोनी में 10 मार्च की रात पूजा के दौरान दो पक्षों में चले लाठी-डंडे और पथराव से घायल सागर (25) की शुक्रवार तड़के अस्पताल में मौत हो गई। पुलिस ने पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिजनों को सौंपा। दोपहर में परिजनों ने सुरक्षा के बीच शव का अंतिम संस्कार किया।

शहीद नगर के अजीत ने बताया कि परिवार के लोग घर के बाहर पूजा कर रहे थे। तभी एक पड़ोसी परेशान कर रहा था। भाई गोविंद ने उसे रोका और ऐसा करने से मना किया, जिससे पड़ोसी भड़क गए। उनसे आकर गाली-गलौज की।विवाद बढ़ने पर सात-आठ लोगों ने लाठी-डंडे और बल्ले से गोविंद, मोनिका, आकांक्षा, रिषीपाल व अन्य पर हमला कर दिया। सभी में जमकर-लाठी-डंडे चले। गुस्साए लोगों ने छत से पथराव किया। सूचना पर पुलिस बल पहुंचा और शांति व्यवस्था बिगड़ने पर कार्रवाई की। हमले और पथराव से एक पक्ष के गोविंद, आजाद और सागर जबकि दूसरे पक्ष से सोनू घायल हालत में पड़े मिले थे। पुलिस ने घायलों को तत्काल दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया। घायल सागर की हालत चिंताजनक थी। शुक्रवार तड़के उसकी मौत हो गई। दिल्ली के जीटीबी अस्पताल से डॉक्टरों ने शव का पोस्टमार्टम करके परिजनों को दिया। शाम करीब चार बजे गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार किया। माहौल को देखते हुए कॉलोनी में पुलिस बल तैनात है। पुलिस मुकदमे को गैर इरादतन हत्या की धारा में तरमीम करेगी।

दोनों पक्षों के लोगों पर दर्ज हुआ था मुकदमा :

घटना में उपनिरीक्षक अवनीश कुमार ने दोनों पक्षों के गोविंद, सागर, आजाद, नितिन के अलावा पांच अन्य जबकि दूसरे पक्ष से सोनू, सतीश, राजू, क्रिस, रौनक, रिंकू, अनिल के अलावा आठ अन्य अज्ञात लोगों पर बलवा, हमला, गैर इरादतन हत्या व अन्य धारा में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस एक पक्ष के सोनू और रौनक को गिरफ्तार कर चुकी है। एसीपी रजनीश उपाध्याय का कहना है कि घटना में भागे हुए आरोपियों की तलाश में टीम लगी है।

 

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response