उत्तर प्रदेशभारत

कच्ची शराब बेचने की रंजिश में, पूर्व ग्राम पंचायत सदस्य की हत्या

Dead Body
77views

रामपुर। उत्तराखंड बॉर्डर स्थित ग्राम डिबडिबा के पूर्व ग्राम पंचायत सदस्य मुसाफिर साहनी (70) की हत्या उनके पड़ोस में रहने वाले एक युवक ने कच्ची शराब बेचने से मना करने की रंजिश को लेकर की थी। पुलिस ने आरोपी को रुद्रपुर के एक नशा मुक्ति केंद्र के बाहर से गिरफ्तार कर घटना का पर्दाफाश कर दिया है। कोतवाली प्रभारी बलवान सिंह ने बताया कि 24 जनवरी की रात ग्राम डिबडिबा की तेल मिल परती कॉलोनी निवासी मुसाफिर साहनी की अज्ञात लोगों द्वारा धारदार हथियार से गला काटकर हत्या कर दी थी। 25 जनवरी की सुबह मृतक के पुत्र धर्मेंद्र पुत्र मुसाफिर साहनी ने पुलिस को सूचना देकर अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 302 के तहत रिपोर्ट दर्ज कराई थी। एसपी राजेश द्विवेदी ने घटनास्थल का निरीक्षण कर हत्या का पर्दाफाश करने के लिए दो टीमों का गठन भी किया था। इसके बाद दोनों टीमें घटना का पर्दाफाश करने के लिए हर स्तर पर जांच कर रहीं थीं। कोतवाली प्रभारी बलवान सिंह ने बताया कि सोमवार की सुबह मुखबिर ने पुलिस को सूचना दी कि मुसाफिर साहनी की हत्या में प्रकाश में आया आरोपी राम इकबाल पुत्र सुदेश्वर साहनी निवासी सेठी कॉलोनी ग्राम डिबडिबा रुद्रपुर के नवचेतना नशा मुक्ति केंद्र में दाखिल है और वह आज नशा मुक्ति केंद्र के बाहर घूम रहा है। सूचना पर पहुंची पुलिस टीमों ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

अवैध कच्ची शराब बेचने पर हुआ था विवाद

कोतवाली लाकर पूछताछ की गई तो आरोपी ने पुलिस को बताया कि मुसाफिर साहनी लंबे समय से अवैध कच्ची शराब का कारोबार कर रहा था। उनके घर के आगे उसकी नानी भी शाम के समय कच्ची शराब बेचा करती थींं। मुसाफिर साहनी उसकी नानी को अपने घर के सामने शराब बेचने से मना करते थे और कहते थे कि तेरी वजह से मेरी शराब नहीं बिकती है। तुम मेरे घर के आगे शराब मत बेचो। पुलिस का कहना है कि राम इकबाल नशा करता था। उसने नानी को शराब बेचने से मना करने की रंजिश को लेकर मुसाफिर साहनी को ठिकाने लगाने की योजना बनाई। योजना के अनुसार उसने 24 जनवरी की रात घर में घुसकर धारदार हथियार से मुसाफिर की गला काटकर हत्या कर दी और रात के घने कोहरे में भाग गया। पुलिस ने आरोपी को मुसाफिर साहनी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया और उसकी निशानदेही पर ग्राम डिबडिबा की पद्मा कॉलोनी के पीछे गेहूं के खेत की दीवार के पीछे झाड़ियां से लोहे का हथियार बरामद कर लिया। पुलिस ने आरोपी को न्यायालय मे पेश कर जेल भेज दिया। कोतवाली प्रभारी बलवान सिंह ने बताया की हत्यारोपी राम इकबाल का भाई रोशन पर गैंगस्टर की कार्रवाई हो चुकी है। उसके खिलाफ चोरी के दो अभियोग पंजीकृत हैं।

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response