भारत

कार से टक्कर लगने के बहाने फोन लेकर भागे चोर

Phone
65views

साहिबाबाद। मोहननगर स्थित मोहन मिकिन्स मैदान के बाहर असिस्टेंट प्रोफेसर माला शर्मा को कार से टक्कर लगने की बात कहते हुए युवक फोन ले उड़े। घटना 13 फरवरी 2024 के शाम की है। आरोप है कि एक पुलिसकर्मी के बताने पर दो बार ई-एफआईआर की। दोनों बार रद्द होने के बाद उन्होंने साहिबाबाद कोतवाली पहुंचकर पुलिस को मुकदमा दर्ज कराया।

राजबाग कालोनी में रहने वालीं माला शर्मा आईटीएस कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर हैं। उन्होंने बताया कि 13 फरवरी को कॉलेज से डयूटी करने के बाद कार से घर जा रही थीं। मोहन नगर मेट्रो स्टेशन के पास निर्माण कार्य के चलते वाहन धीरे-धीरे चल रहे थे। तभी दो युवक आए और उनके ऊपर अचानक चिल्लाने लगे। वह कुछ समझ पातीं तभी चालक की तरफ खड़े युवक ने शीशा खुलवाकर बहस शुरू कर दी। तभी दूसरी तरफ अन्य युवक आया और बोला कि उन्होंने उसको गाड़ी से टक्कर मार दी जिससे उसको चोट लग गई। आरोप है कि जैसे ही उन्होंने दूसरी तरफ का शीशा खोला। आरोपी सीट पर रखा फोन उठाकर भाग गए। वह वाहनों के बीच से निकलकर सड़क किनारे खड़ी हुईं। तब तक दोनों आरोपी काफी दूर भाग चुके थे। इसके बाद वह मोहन नगर पर एक पुलिसकर्मी के पास पहुंची और घटना बताई। तब पुलिसकर्मी ने उन्हें ई-एफआईआर का तरीका बताकर कार्रवाई का आश्वासन दिया। प्रोफेसर के मुताबिक, ई-एफआईआर का एक सप्ताह बाद पता चला कि वह रद्द हो गई। फिर दोबारा शिकायत की तो वह भी रद्द हो गई। करीब 15-20 दिन तक वह ई-एफआईआर की प्रक्रिया करती रहीं लेकिन एफआईआर दर्ज नहीं हुई तो वह पति के साथ साहिबाबाद कोतवाली गईं और लिखित शिकायत देकर मुकदमा कराया।

दो साल पहले पति से भी हुई थी इसी तरह घटना :

उन्होंने यह भी बताया कि पति नीरज शर्मा के साथ भी गिरोह के सदस्यों ने मोहन नगर के इसी प्वाइंट पर इसी तरह की घटना की थी। तब उन्होंने साहिबाबाद पुलिस के पास मुकदमा नहीं कराया था। अब असिस्टेंट प्रोफेसर क साथ घटना होने पर वह मुकदमा दर्ज कराने कोतवाली पुलिस के पास पहुंच गईं।

एसीपी रजनीश उपाध्याय का कहना है कि घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली जा रही है। शातिरों की पहचान होते ही टीम तेजी से तलाशी में जुट जाएगी।

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response