उत्तर प्रदेशभारत

बिजलीघर में घुसे 12 बदमाश ने कर्मचारियों को बनाया बंधक

Police
68views

पुलिस की लापरवाही का फायदा उठाते हुए 12 नकाबपोश बदमाशों ने मंगलवार देर रात रोहटा थाना क्षेत्र के उखलीना बिजलीघर में धावा बोल दिया और एसएसओ तथा लाइनमैन को बंधक बनाकर डकैती को अंजाम दिया। बदमाश करीब 15 लाख का सामान ले गए। जाते समय एसएसओ और लाइनमैन को बिजलीघर से कुछ दूरी पर छोड़ गए। अवर अभियंता की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

एक साथ घुसे थे 12 बदमाश

जानी थाना क्षेत्र के बहरामपुर निवासी सुरेश बिजलीघर में एसएसओ हैं, जबकि कैथवाड़ी गांव निवासी नरेश शर्मा लाइनमैन हैं। रात दोनों की ड्यूटी बिजलीघर पर थी। सुरेश और नरेश शर्मा ने बताया कि देर रात बिजलीघर की दीवार में कूमल लगाकर 12 बदमाश घुस आए। सभी ने नकाब पहन रखा था और तमंचा लिए हुए थे।

बदमाशों ने बिजलीघर के अंदर घुसते ही दोनों के साथ गाली गलौच और मारपीट शुरू कर दी। बार-बार कनपटी पर तमंचा रखकर जान से मारने की धमकी देते रहे। दोनों के मोबाइल भी अपने कब्जे में ले लिए और उन्हें बंधक बना लिया। उसके बाद बिजलीघर से चार सौ मीटर की दूरी पर ले गए।

दो बदमाश उनकी देखरेख के लिए लगा दिए। अन्य बदमाशों ने बिजलीघर में रखे पुराने ट्रांसफार्मर से कापर की तार व राड आदि सामान निकाल लिया। उसके बाद स्टोर रूम का ताला तोड़कर अन्य सामान भी कब्जे में कर लिया। जाते समय एसएसओ और लाइनमैन को आधा किलोमीटर दूर किनौनी रोड तक ले गए।

दोनों को बंधनमुक्त कर उनके मोबाइल खेत में डाल दिए। बदमाशों के जाने के बाद दोनों ने विभाग के आला अफसरों को घटना की जानकारी दी। बुधवार सुबह पुलिस पहुंची और पूछताछ कर चली गई। जेई अशोक की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है। डेढ़ करोड़ की डकैती की बात सामने आई थी लेकिन बाद में 15 लाख की बताई गई।

दीवार में कूमल लगाकर घुसे थे अंदर, जेई ने दर्ज कराया मुकदमा

जेई अशोक कुमार ने बताया कि स्टाफ से पता चला है कि कई कुछ वर्ष पूर्व भी यहां चोरी का प्रयास किया गया था। उस समय कर्मचारियों के शोर मचाने पर बदमाश भाग गए थे। थाने में तहरीर देने के बाद भी मुकदमा दर्ज नहीं हुआ था।

पुलिस कार्रवाई पर उठ रहे सवाल

डकैती का मुकदमा नकबजनी में दर्ज बदमाश बिजलीघर तक पहुंच गए और डकैती को अंजाम देकर आराम से चले गए लेकिन रास्ते में कहीं पुलिस नहीं दिखी लेकिन जब मुकदमा दर्ज करने की बारी आई तो उसमें खेल कर ही दिया। पुलिस ने डकैती की इस घटना का मुकदमा नकबजनी में दर्ज किया है।

यह हाल तब है जब एसएसओ व जेई ने बदमाशों की संख्या 12 बताई थी। वरिष्ठ अधिवक्ता अनिल बख्शी का कहना है कि पांच या उससे ज्यादा बदमाश घटना को अंजाम देते है, तो मुकदमा डकैती का बनता है। इसलिए बिजलीघर पर डकैती की घटना बनती है।

उखलीना बिजलीघर में नकबजनी की घटना हुई है। जेई की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर बदमाशों की तलाश की जा रही है। तहरीर के आधार पर मुकदमा नकबजनी का बनता है। ऊर्जा निगम के अधिकारियों से सामान के बारे में जानकारी मांगी जा रही है।

 

 

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response