भारत

पिता-पुत्र ने की खुदकुशी

symbolic picture
51views

लोनी। लोनी बॉर्डर की उत्तरांचल कालोनी में कर्ज से परेशान कपड़े की फेरी लगाने वाले सुधीर जैन (53) और उनके बेटे आशु जैन (26) ने बुधवार रात बेहटा-हाजीपुर के बंद फाटक पर जहरीला पदार्थ खाकर जान दे दी। आशू के पास एक पर्ची मिली है। उसमें लिखा है, कर्ज से परेशान होकर जान दे रहा हूं।

आशु ने ताऊ के बेटे विकास को फोन करके पिता संग जहर खाने की बात कही थी। वह दूसरे भाई को लेकर मौके पर पहुंचे और दोनों को दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया। देर रात में दोनों की इलाज के दौरान मौत हो गई। बृहस्पतिवार सुबह परिजनों ने पुलिस को सूचना दी।भतीजे ने मृतक के मामा की पुत्रवधू पर आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा कराया है।

सुधीर जैन बेटे आशु के साथ कालोनी में बिल्लू के मकान में एक साल से किराए पर रहते थे। दोनों बेहटा हाजीपुर में बंद फाटक पर कपड़ों की फेरी लगाते थे। बेटी कीर्ति की शादी हो चुकी है। बुधवार रात करीब आठ बजे दोनों ने जहर खा लिया था।

विकास ने बताया, वहां भाई और चाचा के मुंह से झाग निकलते देखे। दोनों को अन्य लोगों की मदद से दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया। वहां डॉक्टरों ने इलाज शुरू किया लेकिन दोनों की हालत गंभीर थी। देर रात में दोनों की मौत हो गई। इस खबर से घर में परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया। बृहस्पतिवार सुबह 11 बजे भतीजे अंकित लोनी बॉर्डर थाने पहुंचे और पुलिस को घटना की सूचना दी।

20-25 लोगों से ले रखा था कर्ज

पुलिस ने सुधीर के फोन को कब्जे में लेकर जांच की जिसमें पता चला कि उन्होंने करीब 20-25 लोगों से अलग-अलग मद में कई लाख रुपये कर्जा ले रखा था। लोग पैसों के लिए तकादा कर रहे थे। इससे परेशान होकर दोनों ने जहर खाकर जान दे दी थी। पुलिस को सुधीर के पास से एक पर्ची भी मिली जिसमें लिखा था कि मैंने कई लोगों से कर्जा ले रखा था, मैं कर्जे से परेशान हो गया हूंं। लोनी पुलिस अब दोनों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

मामा की पुत्रवधू पर मुकदमा दर्ज

पुलिस जांच में यह भी आया कि सुधीर ने जिन लोगों से कर्जा लिया था, उनमें मामा का बेटा आशु कुमार और उनकी पत्नी मेघा जैन भी शामिल हैं। इनसे करीब चार लाख रुपये कर्जा ले रखा था। अब शिकायतकर्ता अंकित के मुताबिक,सुधीर की जेब से मिली पर्ची और फोन से यह प्रतीत होता है कि मेघा जैन निवासी गौतमपुरी थाना उस्मानपुरी दिल्ली पैसों के लिए बार-बार तकादा करके दबाव बना रही थी। इस इससे विवश होकर दोनों ने आत्महत्या कर ली। उन्होंने आरोपी मेघा पर आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा कराया है।

तीन महीने पहले हुई थी आशु की शादी

सुधीर ने अपने बेटे आशु की शादी तीन महीने जौनपुर की रूबी से की थी। वह पति और ससुर के साथ किराए के कमरे में रहती हैं। पिछले दिनों वह होली पर्व मनाने के लिए अपने मायके चली गईं। घटना की सूचना मिलने से उनके पैरों तले जमीन निकल गई। उनका रो-रोक बुरा हाल है।

एसीपी भास्कर वर्मा का कहना है कि शुरुआती जांच में पिता-पुत्र के कर्जे से परेशान होकर आत्महत्या की बात सामने आई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इन्तजार कर रहे हैं। घटना में मुकदमा दर्ज कर हर एंगल से जांच हो रही है।

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response