अपराधउत्तर प्रदेशमुजफ्फरनगर

अरे! मुजफ्फरनगर की तीन बहनें एक ही ‘आशिक’ के साथ फरार?

friendship Wallpaper
1.2kviews

अंधेरे में रात एक बजे एक साथ गायब हुई तीनों

पुलिस ने अपहरण की धारा में मुकदमा किया दर्ज

  • रिपोर्टः अमित सैनी, संपादक

मुजफ्फरनगर। वेस्ट यूपी के मुजफ्फरनगर शहर से सटे एक गांव की रहने वाली तीन नाबालिग बहनें एक साथ रहस्यमय परिस्थितियों में गायब हो गई. तीनों बहनें एक साथ रात के एक बजे गायब हुई. भाई की शिकायत पर पुलिस ने आईपीसी की धारा 363 के तहत अपहरण का मुकदमा दर्ज अपनी जांच आगे बढ़ाई तो इलाके के ही एक युवक का नाम सामने आया. जिसके बाद पुलिस ने अपनी जांच तेज़ कर दी है और आरोपित की तलाश में दबिशें दी जा रही हैं.

नई मंडी कोतवाली में दर्ज एफआईआर के मुताबिक, गत 29/30 जून की रात को तीनों बहनें रात करीब एक बजे रहस्यमय परिस्थितियों में गायब हुई. परिजनों ने तीनों को हर संभंव ठिकानों पर तलाश किया. पता नहीं लगने पर भाई की तरफ से मुकदमा दर्ज कराया गया.

 

भाई ने जताई अनहोनी की आशंका

पुलिस में दर्ज कराई गई शिकायत में गायब लड़कियों के पीड़ित भाई ने अनहोनी की भी आशंका जताई है. पीड़ित ने अपनी शिकायत में लिखा कि उसकी बहनों के साथ अनहोनी हो सकती है. इसलिए जल्द से जल्द उसकी बहनों को तलाश किया जाए.

 

नाबालिग है तीनों बहनें

तीनों लड़कियों की उम्र क्रमशः 17 साल, 15 साल और 13 साल है. जो अपने साथ अपने पिता का मोबाइल भी लेकर गई हैं. इस मामले में जिस शख्स का नाम सामने आया है, वो इलाके का ही रहने वाला है, जिसके परिजनों का दावा है कि वो बैंगलुरू में रहकर काम करता है. फिलहाल आरोपित युवक को पुलिस ट्रेस करने में लगी हुई है. दबाव बनाने की गरज से पुलिस ने आरोपित के परिवार के एक सदस्य को भी पूछताछ के लिए उठाया हुआ है.

PS New Mandi, Muzaffarnagar

उत्तराखंड में मिली लोकेशन!

नाम प्रकाशित ना करने की शर्त पर ग्राम प्रधान ने जानकारी दी कि “तीनों बहनों की लोकेशन उत्तराखंड में मिली थी. पुलिस और परिजनों के साथ उन लोगों ने रविवार को वहां पर दबिश भी दी, लेकिन उनके पहुंचने से पहले ही वो वहां से निकल गई.”

 

‘एस्कॉर्ट गैंग’ पर भी शक?

पीड़ित परिवार के नजदीकी परिचित के मुताबिक, “शहरी इलाके में एक ऐसा गिरोह सक्रिय है, जो मासूम लड़कियों को बहला-फुसलाकर उन्हें वेश्यावृत्ति के दलदल में धकेल रहा है.” उक्त ने ये भी दावा किया कि “कथित आरोपित युवक इसी गिरोह का सदस्य है. जिनके मिमलाना रोड और सुभाषनगर रोड समेत कई जगहों पर ठिकानें संचालित है. उन्हे आशंका है कि अपने प्रेम जाम में फंसाकर आरोपी युवक तीनों बहनों को वेश्यावृत्ति के दलदल में धकेल सकता है.”

 

पुलिस के हाथ खाली

घटना को 8 दिन से ज्यादा हो चुके हैं. मुकदमा भी 2 जुलाई को दर्ज हो गया था. लेकिन अभी तक पुलिस के हाथ इस मामले में खाली है. हालांकि पुलिस ने कई ठिकानों पर दबिश भी दी और कई लोगों से पूछताछ भी की, मगर अभी तक ना तो तीनों बहनों की ही बरामदगी हो सकी है और ना ही आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ सका है.

UP Police
UP Police

क्या कहती हैं पुलिस?

“मुकदमा दर्ज है. पुलिस जांच कर रही है. मामला प्रेम-प्रसंग का है या कुछ और है, ये अभी क्लीयर नहीं हो पाया है. पुलिस टीम लगी हुई है. जल्द ही लड़कियों को बरामद कर लिया जाएगा.” -रूपाली राव, सीओ नई मंडी, मुजफ्फरनगर

 

पोस्ट शेयर करें

Leave a Response